लॉकडाउन उत्तराखंड: फंसे लोगों का बढ़ा इंतजार, केंद्रीय गाइडलाइन ही मान्य

उत्तराखंड में दूसरे जिलों में फंसे लोगों को घर वापसी के लिए मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने निर्देश दिए थे। लेकिन इन निर्देशों पर केंद्रीय गाइडलाइन के सख्त नियम आड़े आ रहे हैं। ऐसे में अब लोगों को फिलहाल और इंतजार करना होगा।

देहरादून: कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप के चलते देशभर में लॉक डाउन लागू है। जिसके चलते कई लोग अपने घरों से बाहर अन्य जगहों पर फंसे हैं। घर वापसी के लिए उत्तराखंड में बार-बार लोग मुख्यमंत्री से गुहार लगा रहे हैं।

आखिरकार पिछले दिनों सीएम ने उच्च अधिकारियों को आदेश दिया कि अन्य जिलों में फंसे लोगों को ग्रीन कैटेगिरी वाले जिलों में जाने की अनुमति दी जाए। लेकिन एक बार फिर इसमें केंद्रीय गाइडलाइन आड़े आया है यानि यह लॉक डाउन के केंद्रीय गाइडलाइन के अनुसार नहीं पाया गया है।

ऐसे में अब प्रदेश के विभिन्न जिलों फंसे लोगों को घर वापसी के लिए और इन्तजार करना होगा। प्रदेश में अब फ़िलहाल केंद्रीय गृह मंत्रालय की गाइडलाइन के अनुसार ही छूट मिल सकती है। बता दें कि, देशभर में लॉक डाउन की अवधि 3 मई तक है। वहीं एक बार लॉक डाउन बढ़ाए जाने के बाद पीएम मोदी 27 अप्रैल को एक बार फिर से सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों से इस पर वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये चर्चा करेंगे।