22 अप्रैल: विशेष एवं इतिहास के पन्नो में महत्व || भारतजन || BharatJan

जानिए 22 अप्रैल के दिन इतिहास के पन्नो में दर्ज महत्वपूर्ण घटनाएं और क्या विशेष है।

-सुरेंद्र भट्ट

22 अप्रैल के दिन विशेष और देश-दुनिया के इतिहास के पन्नो की नजरों में महत्व।

विशेष

22 अप्रैल के दिन प्रतिवर्ष ‘पृथ्वी दिवस’ (Earth Day) मनाया जाता है।

पढें: विश्व पृथ्वी दिवस 2020: कैसे हुई शुरुआत और मायने, लॉक डाउन ने किया कमाल

इतिहास के पन्नो में

  • 1500- पुर्तगाली नाविक पेड्रो अलवेयर कैब्राल ने ब्राजील की खोज की।
  • 1870: रूस की क्रांति के जनक व्लादिमीर लेनिन का जन्म हुआ था। लेनिन मार्क्सवाद से प्रेरित थे और इसी के आधार पर उन्होंने रूसी कम्युनिस्ट पार्टी की स्थापना की।
  • 1906: यूनान के एथेंस में 10वें ओलंपिक खेलों की शुरुआत हुई।
  • 1915: प्रथम विश्व युद्ध के दौरान जर्मन सेना ने पहली बार जहरीली गैस का इस्तेमाल किया।
  • 1921: इसी दिन देश के महान सपूत नेताजी सुभाष चंद्र बोस ने देश सेवा के लिए भारतीय सिविल सेवा की नौकरी से इस्तीफा दिया था।
  • 1931: मिस्र और इराक ने शांति समझौते पर हस्ताक्षर किए।
  • 1958: एडमिरल आर.डी. कटारी भारतीय नौसेना के पहले भारतीय प्रमुख बनाए गए।
  • 1969: ‘काकोरी कांड’ के प्रसिद्ध क्रांतिकारी जोगेशचंद्र चटर्जी का में निधन।
  • 1970: दुनिया में पहली बार पृथ्‍वी दिवस मनाया गया।
  • 1974: भारतीय लेखक चेतन भगत का जन्म हुआ।
  • 1980: समाज सुधारक मंगूराम का में निधन।
  • 1983: अंतरिक्ष यान सोयूज टी-8 पृथ्वी पर लौटा।
  • 2008: रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन को लुडविग नोबेल पुरस्कार से सम्मानित किया गया
  • 2012: लंदन मैराथन के दौरान एक 30 वर्षीय महिला प्रतिभागी की अचानक गिरकर मौत।
  • 2013: भारत के प्रसिद्ध वायलिन वादक लालगुड़ी जयरमण का में निधन।
  • 2016: 170 से ज्यादा देशों ने जलवायु परिवर्तन पर पेरिस संधि पर हस्ताक्षर किए। इसे नवंबर 2016 में लागू किया गया।