अमेरिका ने कोरोना से तबाही के बाद रोकी WHO की फंडिंग, लगाया ये आरोप..

अमेरिका में कोरोना वायरस ने भारी तबाही मचाई है। जिसके बाद अमेरिका ने विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) की फंडिंग रोक दी। अमेरिका ने WHO पर कई आरोप लगाए हैं।

वाशिंगटन: दुनियाभर में कोरोना वायरस का कहर बढ़ता ही जा रहा है। इस वायरस से सबसे ज्यादा नुकसान सुपरपावर अमेरिका को हुआ है। यहां अब तक 6 लाख से ज्यादा लोग कोरोना से संक्रमित हो चुके हैं। जबकि, 25 हज़ार से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है और हर दिन मौत का रिकॉर्ड बढ़ता ही जा रहा है। वह भी तब, जब अमेरिका किसी भी महामारी से लड़ने के लिए पिछले साल दुनियाभर में अव्वल था।

वहीं इस बीच कोरोना से त्रस्त अमेरिका ने विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) की फंडिंग रोक दी। अमेरिका ने पिछले साल 400 मिलियन अमेरिकी डॉलर दिए थे। दरअसल अमेरिका कोरोना वायरस को फैलने से रोकने में WHO की भूमिका से खफा है। अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप ने WHO पर कोरोना की गंभीरता को तब तक छिपाने का आरोप लगाया, जब तक कि इस बीमारी ने पूरी दुनिया में अपने पांव नहीं पसार लिए। इससे पहले अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने WHO पर चीन की तरफदारी करने का आरोप लगाते हुए फंडिंग रोकने की धमकी दी थी। वहीं अब अमेरिकी राष्ट्रपति ने कोरोना वायरस को लेकर गहरी चिंता भी जताई।

बता दें कि, अब तक दुनियाभर में कोरोना वायरस से संक्रमितों के कुल मामले 19,79,853 तक पहुंच गए हैं। जबकि1,24,918 मौतें हो चुकी है। हालांकि 4,65,566 ठीक हो चुके हैं। ताजा आंकड़ों के मुताबिक अब कुल 13,89,369 सक्रिय मामले हैं, जिसमे लगातार बढ़ोत्तरी हो रही है।
वहीं भारत की बात करें तो यहां अब तक कुल 10,815 मामले सामने आए। साथ ही 353 लोग अपनी जान गंवा चुके हैं। 1,190 इससे ठीक होने के बाद अब 9,272 सक्रिय मामले हैं। हालांकि भारत मे भी लगातार मामले बढ़ रहे हैं, लेकिन दुनिया के कई देशों की तुलना में भारत की स्थिति काफी हद तक नियंत्रण में है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here