उत्तराखंड बोर्ड: उत्तर पुस्तिकाओं का मूल्यांकन शुरू, शून्य व 70% से अधिक अंक वालों का होगा अंकेक्षण

uttarakhand board
चमोली: जनपद चमोली में उत्तराखंड की परिषदीय परीक्षाओं का मूल्यांकन कार्य शनिवार, 13 जून से शुरू हो गया है। जिला शिक्षा अधिकारी माध्यमिक आशुतोष भण्डारी ने बताया कि, मूल्यांकन कार्य के लिए जिले में राइका गोपेश्वर और राइका कर्णप्रयाग दो मिश्रित मूल्यांकन केन्द्र बनाए गए है। जिसमें इंटर और हाईस्कूल दोनों परीक्षाओं की उत्तर पुस्तिका जांची जाएंगी। राइका गोपेश्वर में हाईस्कूल की उत्तर पुस्तिका के मूल्यांकन के लिए 46 परीक्षक और इंटरमीडिएट के 43 परीक्षकों की तैनाती की गई है। वहीं राइका कर्णप्रयाग में हाईस्कूल की उत्तर पुस्तिका की जाॅच के लिए 84 और इंटरमीडिएट के लिए 50 परीक्षकों की तैनाती की गई है।
जिला शिक्षा अधिकारी ने उप प्रधान परीक्षक, परीक्षक एवं अंकेक्षकों को मूल्यांकन के दौरान कोविड-19 के निर्देशों सहित शारीरिक दूरी का अनिवार्य रूप से पालन करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि मूल्यांकन से पूर्व प्रत्येक दिन मूल्यांकन केन्द्र को सेनेटाइज्ड करने के साथ-साथ सभी परीक्षक की थर्मल स्क्रीनिंग भी की जाएगी। मूल्यांकन कार्य प्रतिदिन सुबह 8ः30 से 3ः30 बजे तक संपादित किया जाएगा।
परिषदीय परीक्षाओं के मूल्यांकन से पूर्व शनिवार को जिला शिक्षा अधिकारी आशुतोष भण्डारी की अध्यक्षता में राइका गोपेश्वर में परीक्षकों को मूल्यांकन कार्यो का प्रशिक्षण भी दिया गया। प्रधानाचार्य/उप नियंत्रक डीएस कण्डेरी ने सही मूल्यांकन प्रक्रिया अपनाए जाने पर जोर देते हुए महत्वपूर्ण जानकारियां साझा की। कोविड-19 के दृष्टिगत परीक्षकों को सोशियल डिस्टेंसिग रखते हुए अपनी सुरक्षा का भी ध्यान रखने को कहा गया।
मास्टर ट्रेनर केएस रावत ने मूल्यांकन त्रुटि एवं ओएमआर सीट भरने की प्रक्रिया को विस्तार से बताया। विगत वर्ष की मूल्यांकन त्रुटियों पर चर्चा करते हुए ऐसी गल्लतियों को न दोहराने के लिए सजग किया गया। मास्टर ट्रेनर विनोद पुरोहित ने अंकेक्षण से संबधित जानकारी दी। बताया कि शून्य अंक और 70 प्रतिशत से अधिक अंक वाली उत्तर पुस्तिकाओं का अनिवार्य रूप से अंकेक्षण किया जाए।
मास्टर ट्रेनर आत्म प्रकाश डिमरी, प्रधानाचार्य/पर्यवेक्षक राकेश थपलियाल, सह उप नियंत्रक श्रीकृष्ण पुरोहित ने मूल्यांकन कार्यो के बारे में परीक्षकों को विस्तार से जानकारी दी। इस अवसर पर एम हिन्दवाल, आशुतोष पुरोहित, राजेन्द्र असवाल, अनीता आर्य, भुवनेश्वरी चैहान सहित परीक्षक मौजूद रहे। इससे पूर्व कोविड-19 के दृष्टिगत पूरे विद्यालय परिसर को नगर पालिका द्वारा सेनेटाइज्ड भी किया गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here