उत्तराखंड: भर्ती परीक्षा में नकल कराने वाला गिरोह पहुंचा जेल, स्कूल प्रबंधन की होगी जांच

jail

हरिद्वार: मेहनती बेरोजगार युवाओं के भविष्य के साथ खिलवाड़ करने वाले गिरोह के 05 आरोपितों को जेल भेज दिया गया है। दिल्ली पुलिस की सिपाही भर्ती परीक्षा में नकल कराने वाले गिरोह को कनखल की पुलिस ने मंगलवार सुबह कोर्ट में पेश किया। जहाँ से मास्टर माइंड अंकुर सहित पांचों आरोपितों को जेल भेज दिया गया। वहीं नक़ल में स्कूल प्रबंधन की मिलीभगत को लेकर उठ रहे सवालों के बीच पुलिस ने इस दिशा में भी जांच शुरू कर दी है।

गौरतलब है कि, कर्मचारी चयन आयोग (SSC) की ओर से इन दिनों सिपाही भर्ती के लिए लिखित परीक्षा कराई जा रही है। कनखल के जगजीतपुर स्थित एसएम पब्लिक स्कूल में बनाए गए परीक्षा सेंटर पर पहले हापुड़ का एक मुन्ना भाई मेरठ निवासी अपने दोस्त की जगह परीक्षा देता पकड़ा गया था। 10 दिन बाद ही हरियाणा की एक युवती को नकल करते रंगे हाथ पकड़ लिया गया।

सोमवार को मेरठ एसटीएफ की एक टीम ने परीक्षा सेंटर के पास बद्री विहार कॉलोनी में छापा मारकर पांच आरोपितों को गिरफ्तार करते हुए नकल कराने वाले गिरोह का भंडाफोड़ किया था। इनके कमरे से लैपटॉप, वाईफाई राउटर, परीक्षा से जुड़े कुछ खाली दस्तावेज और 1.23 लाख रुपये की नकदी बरामद हुई है। मंगलवार सुबह पुलिस ने गिरोह के मास्टर माइंड अंकुर निवासी गंगोह सहारनपुर, राहुल निवासी ग्राम बांस, हिसार, कुलवीर निवासी सूर्यनगर दलाल भवन, रोहतक, मोहित धनकड़ निवासी ग्राम बकैता रोहतक, अजय निवासी गांव सेमन, थाना महम जिला रोहतक हरियाणा को कोर्ट में पेश किया। जहां से उन्हें जेल भेज दिया गया है।

पुलिस की शुरूआती पड़ताल में सामने आया है कि अंकुर गिरोह का मास्टरमाइंड है और उसी ने एसएम पब्लिक स्कूल को परीक्षा का सेंटर दिलाया था। अंकुर परीक्षा के दौरान सेंटर के अंदर जाकर नजदीक की कॉलोनी में ठहरे अपने साथियों की मदद से नकल कराता था। साथ ही पुलिस यह भी जांच में जुट गई है कि अंकुर के साथ नकल कराने में प्रबंधन या स्थानीय स्तर पर कौन-कौन लोग शामिल रहे हैं। पुलिस मामले के हर पहलू से जांच में जुट गई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here