उत्तराखंड: भालू बुजुर्ग पर हमला करता रहा, बुजुर्ग भी दरांती से भालू पर वार करते रहे, और फिर..

bhalu

चमोली: उत्तराखंड के पहाड़ी क्षेत्रों में मानव-वन्यजीव संघर्ष के मामले आम हो चले हैं। आये दिन महिलाओं, बच्चों से लेकर बुजुर्गों पर जंगली जानवरों के हमले होने की घटनाएं सामने आ रहे हैं। वहीं अब चमोली जिले में जंगल में पशुओं के लिए घास लेने गए धारकुंवरपाटा गांव के एक बुजुर्ग को भालू ने बुरी तरह घायल कर दिया। जान बचाने के लिए बुजुर्ग भालू से भिड़ गया। भालू हमला करता रहा लेकिन बुजुर्ग ने भी हार नहीं मानी और दरांती से भालू पर कई वार किए। इसके बाद भालू भाग गया, लेकिन घायल रातभर जंगल में ही पड़ा रहा।

जानकारी के अनुसार, नेत्र सिंह (उम्र 60 साल) दोपहर एक बजे पशुओं के लिए घास लेने के लिए गांव से करीब तीन किलोमीटर दूर गया था। वहां भालू ने हमला कर उसे बुरी तरह घायल कर दिया। शाम तक जब वह जंगल से घर नहीं आया तो ग्रामीण रातभर बुजुर्ग की खोज में भटकते रहे। बुधवार सुबह वह गंभीर हालत में जंगल में मिला। मौके पर पहुंचे ग्रामीण बुजुर्ग को 108 एंबुलेंस से पीएचसी देवाल लाए। प्राथमिक उपचार के बाद उसे श्रीनगर बेस अस्पताल के लिए रेफर कर दिया गया। भालू ने वृद्ध की जांघ, पीठ और गर्दन पर गहरे जख्म किए हैं। घायल नेत्र सिंह ने बताया कि भालू से जान बचाने के लिए उसके और भालू के बीच काफी देर तक संघर्ष हुआ।

वहीं भालू के हमले के बाद गांव में भय का माहौल है। क्षेत्रवासियों ने वन विभाग से गश्त के साथ जंगली जानवरों के आतंक से निजात दिलाने की मांग उठाई है।

उत्तराखंड समेत सभी न्यूज पाने के लिए जॉइन करें हमारा व्हाट्सएप (WhatsApp) ग्रुप, लिंक पर क्लिक करें.. Bharatjan News Whatsapp Group Link

Bharatjan

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here