ऋषिकेश: सीएम त्रिवेंद्र ने किया जानकी सेतु का लोकार्पण, बजरंग सेतु का निर्माण जल्द

जानकी सेतु

ऋषिकेश: टिहरी-पौड़ी जिले की सीमा को जोड़ने वाले जानकी सेतु पुल का मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने लोकार्पण किया। वर्ष 2014 में मुनिकीरेती पूर्णानंद से स्वर्गाश्रम वेद निकेतन के लिए गंगा के ऊपर करीब 49 करोड़ की लागत से 346 मीटर लंबे जानकीसेतु का निर्माण हुआ है। लोनिवि नरेंद्रनगर ने जानकीसेतु का निर्माण किया। लेकिन लाइटिंग की व्यवस्था नहीं होने से ऋषिकेश आने वाले श्रद्धालु जब स्वर्गाश्रम, परमार्थ निकेतन जाएंगे तो उन्हें पुल के मध्य में अंधेरे में गुजरना होगा।

थ्री लेन जानकी झूला पुल एक नजर में 

  • सेतु की कुल लंबाई – 346 मीटर
  • सेतु का मुख्य स्पान – 274 मीटर
  • सेतु की चौड़ाई – 3.90 मीटर
  • दाई ओर से एप्रोच रोड- 24 मीटर
  • बाईं ओर से एप्रोच रोड- 48 मीटर
  • सेतु के टावर की ऊंचाई- 30 मीटर
  • सेतु की सुरक्षा जाली की ऊंचाई – 2.10 मीटर
  • सेतु के चौड़ाई के तीन भाग- 2 गुणा 1.20 मीटर और 1.50 मीटर
  • स्वीकृति वर्ष -2013
  • पुनरीक्षत स्वीकृत वर्ष -2018
  • कुल लागत- 48.85 करोड़

लक्ष्मणझूला में बजरंग सेतु का जल्द निर्माण होगा

वहीं मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कहा कि गंगा में लक्ष्मणझूला में जल्द ही पुल का निर्माण किया जाएगा। इसका नाम बजरंग सेतु रखा जाएगा। इसके अलावा यमकेश्वर विधानसभा के सिंगटाली और बीन नदी में मोटर पुल का निर्माण जल्द होगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here