सांसद तीरथ सिंह रावत ने की केंद्र पोषित योजनाओं की प्रगति की समीक्षा

चमोली: सरकार की योजनाओं को धरातल पर गुणवत्ता से उतारने के लिए अधिकारी एवं जनप्रतिनिधि बेहतर सामजस्य बनाकर कार्य करें। ताकि योजनाओं का लाभ अंतिम छोर पर खडे व्यक्ति तक आसानी से पहुॅच सके। यह बात गढवाल सांसद तीरथ सिंह रावत ने जिला विकास समन्वय एवं निगरानी समिति (दिशा) की बैठक में केन्द्र पोषित योजनाओं की प्रगति समीक्षा करते हुए कही। चमोली जिले में अधिकारियों की कमी के बावजूद केन्द्र पोषित योजनाओं की अच्छी प्रगति पर प्रसन्नता व्यक्त करते हुए सांसद ने जिलाधिकारी स्वाति एस भदौरिया सहित विभागीय अधिकारियों के कार्यो की सराहना की। उन्होंने आगे भी सभी जन प्रतिनिधियों एवं अधिकारियों को मिलकर योजनाओं के बेहतर क्रियान्वयन करने पर जोर दिया। बैठक में समिति के सदस्यों के महत्वपूर्ण सुझावों पर भी चर्चा हुई।

सांसद ने केन्द्र पोषित योजनाओं के तहत मनरेगा, राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन, पीएम आवास, पीएमजीएसवाई, जलागम, दीन दयाल ग्राम ज्योति, स्वच्छ भारत मिशन, सर्व शिक्षा, एमडीएम, डिजिटल इंडिया, वैकल्पिक ऊर्जा आदि योजनाओं की विस्तार से प्रगति समीक्षा की।

प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के तहत निर्मित एवं निर्माणधीन सड़कों की समीक्षा करते हुए सांसद ने सड़कों की गुणवत्ता में सुधार लाने के निर्देश दिए। कहा कि सरकार ने संपर्क विहीन बसावटों को अच्छी बारहमासी सड़क मुहैया कराने के लिए यह योजना शुरू की है। लेकिन आजकल निर्मित हो रही सड़कों पर स्कवर, कलमठ व नाली निर्माण न होने से सड़कों पर गढ्ढे व जलभराव की समस्या से जनता खासी परेशान है। उन्होंने सड़कों के निर्माण के दौरान ठेकेदारों पर नजर रखते हुए गुणवत्ता का विशेष ख्याल रखने की बात कही। कहा कि गलत काम करने वाले ठेकेदारों को ब्लैक लिस्ट करें। पीएमजीएसवाई की मींग गधेरा-गढकोट सड़क का निर्माण कार्य पिछले कई वर्षो से पूरा न होने पर जिलाधिकारी को जांच कराने को कहा।

जिले में आॅलवेदर कार्यो की समीक्षा करते हुए सांसद ने एनएचआईडीसीएल को आधे-अधूरे कार्यो को शीघ्र पूरा करने के निर्देश दिए। कहा कि आॅलवेदर सड़क पर हार्ड राॅक वाले स्थानों पर कटिंग कार्य न होने से समस्या आज भी जस की तस बनी हुई है। जिसको पूरा किया जाना अत्यंत आवश्यक है और इसको पूरा करने प्रयास किया जाएगा। उन्होंने एनएचआईडीसीएल को समय से राॅयल्टी जमा करने, एनएच कार्यो से क्षतिग्रस्त हुए लिंक रोड को सुचारू बनाने तथा एनएच निर्माण कार्यो में प्रवासियों को रोजगार के अवसर उपलब्ध कराने को कहा।

जल जीवन मिशन के तहत संचालित कार्यो की समीक्षा करते हुए सांसद ने कहा कि हर घर तक नल से जल पहुंचाना देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का ड्रीम प्रोजेक्ट है। इसके क्रियान्वयन के लिए धनराशि की कोई कमी नही है। उन्होंने हर गांव, तोक एवं घर को पेयजल सुविधा से जोड़ने के लिए डीपीआर तैयार करने के निर्देश दिए। वही सौभाग्य योजना के तहत जिले में छूटे हुए सभी तोकों तक शीघ्र बिजली पहुंचाने को कहा। उन्होंने नगरीय क्षेत्रों के साथ-साथ बर्फवारी वाले क्षेत्रों में भी विद्युत सप्लाई लाईन को अंडर ग्राउड करने पर जोर दिया। ताकि बर्फवारी के कारण विद्युत सप्लाई प्रभावित न हो। मनरेगा और समाज कल्याण की पेंशन स्कीम में कुछ लाभार्थियों को भुगतान न होने की शिकायत पर सांसद ने जनप्रतिनिधियों को ऐसे प्रकरणों को स्पष्ट रूप से विभागों के समक्ष रखने और विभागीय अधिकारियों को सभी खातों को आॅफलाइन से आॅनलाइन कर तत्काल समस्याओं का समाधान करने की बात कही। इस दौरान सांसद ने जनपद में स्वास्थ्य सुविधाओं की समीक्षा करते हुए कोविड की स्थिति के बारे में भी जानकारी ली और कोविड से बचाव के लिए जिला प्रशासन द्वारा किए जा रहे बेहतर कार्यो की खूब प्रशंसा की।

जिलाधिकारी स्वाति एस भदौरिया ने बैठक में सांसद को जिले में संचालित केन्द्र पोषित योजनाओं की प्रगति के संबध में विस्तार से अवगत कराया। उन्होंने बताया कि मनेरगा के तहत 20.41 लाख वार्षिक लक्ष्य के सापेक्ष सितंबर माह तक 14.65 लाख मानव दिवस सृजित किए जा चुके है। पिछले वर्ष मनरेगा में 26 करोड़ व्यय हुआ था। इस वर्ष 43 कारोड़ व्यय किया जा चुका है। एनआरएलएम के तहत जिले में गठित 2969 स्वयं सहायता समूहों को विभिन्न याजनाओं से जोड़कर उनकी आजीविका में बृद्वि की गई है। जल जीवन मिशन के तहत जिले के 1077 गांवों में हर घर पेयजल कनेक्शन से जोड़ा जाना है। जिसमें भारत सरकार से 241.26 करोड़ लागत की परियोजनाओं का अनुमोदन मिल गया है। पीएम आवास ग्रामीण के तहत सभी 997 आवास पूर्ण कर लिए गए है। इस वर्ष केन्द्र से कोई भी लक्ष्य नही मिला है। विभिन्न पेंशन योजनाओं के तहत समाज कल्याण के माध्यम से 12314 लाभार्थियों को पेंशन का लाभ दिया जा रहा है।

जिलाधिकारी ने सांसद एवं बैठक में उपस्थित सभी जनप्रतिनिधियों का आभार व्यक्त करते हुए कहा कि जन प्रतिनिधियों से जो बहुमूल्य सुझाव मिले है और क्षेत्र की समस्याएं रखी गई है उनका शीघ्र समाधान किया जाएगा। इस दौरान जिलाधिकारी ने सांसद एवं विधायकगणों को स्मृति चिन्ह भी भेंट किया।
इस अवसर पर बद्रीनाथ विधायक महेन्द्र भट्ट, कर्णप्रयाग विधायक सुरेन्द्र सिंह नेगी, सांसद के जिला प्रतिनिधि राकेश कुमार डिमरी, सभी ब्लाकों के क्षेत्र पंचायत प्रमुख व अन्य जनप्रतिनिधियों सहित पुलिस अधीक्षक यशवंत सिह चैहान, डीएफओ आशुतोष सिंह, सीडीओ हसांदत्त पांडे, सीएमओ डा0 जीएस राणा, पीडी प्रकाश रावत एवं समस्त विभागों के जिला स्तरीय अधिकारी उपस्थित थे।

इससे पूर्व सांसद ने पार्टी कार्यकर्ताओं एवं प्रेस प्रतिनिधियों से वार्ता करते हुए सरकार द्वारा संचालित विकास कार्यो की विस्तार से जानकारी दी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here