देवभूमी में 11 साल की बच्ची से हैवानियत, दुष्कर्म के बाद हत्या! आरोपियों को फांसी देने की मांग

crime

हरिद्वार: माँ गंगा की पवित्र भूमि में एक मासूम बच्ची को हैवानियत का शिकार होना पड़ा। हैवानियत ऐसी कि सुनने वाले हर सख्स के आँख में आंसू और मन गुस्से से भर जाए। हरिद्वार नगर कोतवाली क्षेत्र की एक कॉलोनी में हरिद्वार की एक कॉलोनी में 11 साल की मासूम बच्ची की निर्मम हत्या कर दी गई, साथ ही पोस्टमार्टम में दुष्कर्म की बात सामने आई है। पुलिस की मौजूदगी में एक बच्चे ने आरोपी रामतीरथ यादव पर पतंग देने के बहाने बुलाने का आरोप लगाया। बच्चे की बात सुनकर बच्ची के दादा ने आरोपी को थप्पड़ जड़े।

लोगों में भारी रोष, गुनाहगारों को फांसी देने की मांग

इंसानियत को शर्मशार करने वाली इस घटना से लोगों में भारी रोष है। स्थानीय लोगों समेत सोशल मीडिया पर भी बच्ची के गुनाहगारों को फांसी देने की मांग की जा रही है। नाबालिग मासूम से दुष्कर्म के बाद उसकी हत्या के आरोप में पुलिस ने भवन स्वामी मामा और उसके भांजे के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है। पुलिस ने भांजे को गिरफ्तार कर लिया, जबकि मामा अभी पकड़ से बाहर है। सोमवार को बच्ची के शव का पोस्टमार्टम कराने के बाद परिजनों को सौंप दिया।

घर से लापता हुई थी बच्ची

घटना के अनुसार, कॉलोनी के एक ठेकेदार की 11 साल की बेटी रविवार शाम करीब साढ़े तीन बजे घर के बाहर से गायब हो गई थी। बच्ची के काफी देर तक घर नहीं लौटने पर उसकी खोजबीन शुरू हुई। आसपास बच्चों से पूछताछ की गई, लेकिन बच्ची का कहीं पता नहीं चलने पर परिजनों ने पुलिस को गुमशुदगी की जानकारी दी। पुलिस ने बच्ची के परिजनों और कॉलोनी के लोगों के साथ आसपास के घरों की तलाशी ली। प्रॉपर्टी डीलर और कपड़े के थोक व्यापारी राजीव कुमार के मकान से देर रात बच्ची का शव बरामद किया गया था। बच्ची के घर से राजीव कुमार का मकान ठीक सामने है और करीब पचास मीटर की दूरी है।

खुद को छुड़ाने के लिए आखिरी सांस तक लड़ी मासूम

बच्ची के गले में रस्सी पड़ी थी। जानकारी के अनुसार, बच्ची ने रस्सी से बंधे होने के बावजूद स्वयं को छुड़ाने के लिए काफी देर तक संघर्ष किया। बच्ची के शरीर पर संघर्ष के कई निशान भी मिले हैं। आरोपी रामतीरथ यादव ने ही बच्ची को पतंग देने के बहाने बुलाया था। बच्ची के घर के अंदर दाखिल होते ही उसके मुंह पर टेप लगा दिया। बच्ची के हाथों को पीछे बांधकर उसके साथ दरिंदगी की गई। इसके बाद बच्ची का शव अलमारी की रैक में कपड़ों के साथ बैठा दिया, ताकि शव डमी नजर आए। दूसरा आरोपी राजीव कुमार पुलिस की पकड से बाहर है।

अपने मोबाइल पर उत्तराखंड समेत सभी न्यूज पाने के लिए जॉइन करें हमारा व्हाट्सएप (WhatsApp) ग्रुप, लिंक पर क्लिक करें.. Bharatjan News Whatsapp Group Link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here