विवादित बयान: बंशीधर भगत ने माँगी माफी, कांग्रेस ने की मुकदमा दर्ज की मांग; अचानक बुलाई गई प्रेस कांफ्रेंस में बोले..

bhagat pritam

देहरादून: उत्तराखंड भाजपा प्रदेश अध्यक्ष बंशीधर भगत ने नेता प्रतिपक्ष इंदिरा ह्रदयेश से अपने बयान पर माफी मांग ली है। भगत ने ट्वीट कर लिखा कि, ‘कांग्रेस की वरिष्ठ नेत्री, नेता प्रतिपक्ष इंदिरा हृदयेश जी प्रदेश की सम्मानित नेता हैं और चुनावी क्षेत्र एक होने के कारण नोकझोंक होना स्वाभाविक है। उन्हें व्यक्तिगत क्षति पहुंचाने का मेरा कोई इरादा नहीं था, अगर उन्हें क्षति पहुँची है तो मैं अपना बयान सम्मान पूर्वक वापस लेता हूँ।’

वहीं इससे पहले बंशीधर भगत के बोल पर मुख्यमंत्री ने इंदिरा से माफी मांगते हुए कहा, आदरणीय इंदिरा हृदयेश बहन जी, आज मैं अति दुखी हूं। महिलाएं हमारे लिए अति सम्मानित व पूज्या हैं। मैं व्यक्तिगत रूप से आपसे व उन सभी से क्षमा चाहता हूं जो मेरी तरह दुखी हैं।

बता दें कि, भाजपा प्रदेश अध्यक्ष बंशीधर भगत के वायरल हुए एक वीडियो में भगत कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए नेता प्रतिपक्ष की उम्र पर आपत्तिजनक टिप्पणी के साथ यह कहते सुनाई दे रहे हैं कि, बुढिया नेता प्रतिपक्ष के संपर्क में अब कौन आएगा। डूबते जहाज के संपर्क में कौन आता है। भगत के इस बयान के वायरल होते ही सोशल मीडिया पर कड़ी प्रतिक्रियाएं आने लग गईं थी।

वहीं भगत की ओर से माफी मांगने के बाद भी कांग्रेस के रुख में कोई बदलाव नहीं है। कांग्रेस मुख्यालय में देर शाम अचानक बुलाई गई प्रेस कांफ्रेंस में प्रदेश अध्यक्ष प्रीतम सिंह ने कहा कि भाजपा प्रदेश अध्यक्ष की माफी कांग्रेस को स्वीकार नहीं है। मामला अब सिर्फ कांग्रेस का नहीं है बल्कि प्रदेश की मातृशक्ति के अपमान का है। कांग्रेस की सीधी मांग है कि भगत के खिलाफ मुकदमा दर्ज हो और उनके खिलाफ कार्रवाई की जाए। कांग्रेस ने पुलिस महानिदेशक को प्राथमिकी पंजीकृत करने हेतु शिकायत सौंपी। उन्होंने कहा कि भाजपा प्रदेश अध्यक्ष पर वैधानिक कार्रवाई ना होने तक कांग्रेस इस मुद्दे पर चुप नहीं बैठेगी।

उत्तराखंड समेत सभी न्यूज पाने के लिए जॉइन करें हमारा व्हाट्सएप (WhatsApp) ग्रुप, लिंक पर क्लिक करें.. Bharatjan News Whatsapp Group Link

Bharatjan

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here