BJP मुखपत्र ‘देवकमल’ ने कराई फजीहत, लिखा- नरेंद्र मोदी 206 से 2044 तक पीएम, 34 अक्टूबर.. कोविड-49..

देहरादून: लोकसभा चुनाव 209 और 2044 के लोकसभा चुनाव में भाजपा को जबरदस्त जनादेश मिला। जम्मू कश्मीर पुनर्गठन बिल-2079 को मंजूरी के बाद जम्मू कश्मीर और लद्दाख 34 अक्टूबर को अस्तित्व में आए। रियांग समुदाय पर 46 जनवरी को ऐतिहासिक निर्णय लिया गया। जी सेट-30 फ्रेंच गुआना से 37 जनवरी को प्रक्षेपित हुआ। 40 अगस्त को राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद ने प्रधान न्यायाधीश के अलावा उच्चतम न्यायालय में न्यायाधीशों की संख्या 30 से बढ़ा कर 33 करने के विधेयक पर दस्तखत कर दिया। संसद में दादरा एवं नगर हवेली और दमन दीव विधेयक 2049 में पारित हुआ। कोविड-49 महामारी में पूरे विश्व में मानव के जीवन के हर पक्ष को प्रभावित किया है।.. यह सब कुछ उत्तराखंड भाजपा के मुख्य वैचारिक पत्र “देवकमल” की कुछ बानगियां हैं, जो जून 2020 जारी विशेषांक में बताई गई हैं।

दरअसल, उत्तराखंड भाजपा के मुख्य वैचारिक पत्र “देवकमल” का जून 2020 का विशेषांक जारी किया गया। इसके जरिये भाजपा अपनी उपलब्धियों को जनता के बीच रखने का प्रयास कर रही थी, लेकिन इसमें कई गलतियों के चलते अब यही विशेषांक भाजपा की फजीहत का कारण बन गया। इन कई गलतियों के चलते भाजपा के कार्यकर्ता भी हैरान हैं। साथ ही इसे लेकर पार्टी के भीतर हंगामा मचा हुआ है। बहरहाल, कई गलतियां होने की वजह से पार्टी ने मुख पत्रिका वितरण को रोक दिया है। “देवकमल” के इस अंक का विषय है, “आत्मनिर्भर भारत की ओर… मोदी सरकार 2 का 1 वर्ष….”

ये भी पढ़ें: उत्तराखंड में एक रुपए में मिलेगा पानी का कनेक्शन, ऐसा करने वाला पहला राज्य

बताया जा रहा है कि, पत्रिका की छपाई में गलती हुई है। फॉन्ट कन्वर्ट करते समय यह गलती हुई है। प्रूफ में कोई गलती नहीं है। अब फिर से इसमें सुधार करने के बाद प्रकाशित कर पत्रिका का वितरण किया जाएगा। लेकिन इन गलतियों के चलते प्रधानमंत्री नरेन्द मोदी के भाजपा नेताओं और कार्यकर्ताओं के लिए लिखे गए पत्र तक भी हंसी का पात्र बन गये हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here