VIDEO: पाकिस्तान के पीएम इमरान खान से पत्रकार ने भारत की तरफ से पूछा सवाल, इमरान ने RSS का नाम लेकर दिया चौंकाने वाला बयान, अंगरक्षकों ने रिपोर्टर को रोका

भारत और पाकिस्तान के बीच वार्ता को लेकर पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान ने चौंकाने वाला बयान दिया है। उज्बेकिस्तान में चल रही सेंट्रल साउथ एशिया कॉन्फ्रेंस में पहुंचे इमरान से सवाल किया गया कि क्या आतंकवाद और बातचीत एकसाथ चल सकते हैं। न्यूज एजेंसी एएनआई ने कहा कि ये भारत का उनसे सवाल है।

इस सवाल पर इमरान खान ने कहा, “भारत का तो हम कितने दिनों से इंतजार कर रहे हैं कि हम सिविलाइज्ड हमसाया (सभ्य पड़ोसी) बनकर रहें। पर करें क्या, RSS की आडियोलॉजी (विचारधारा) रास्ते में आ गई।’

इसके बाद उनसे सवाल पूछा गया कि आप पर आरोप लगा रहे हैं कि क्या तालिबान पर आपका कंट्रोल नहीं है, लेकिन इमरान ने इस सवाल का जवाब नहीं दिया गया। इमरान के अंगरक्षकों ने सवाल पूछने वाले रिपोर्टर को रोक दिया।

इमरान खान ने इसी साल जून में कहा था कि अगर भारत कश्मीर में पुरानी स्थिति बहाल करने का रोडमैप बनाता है तो हम उसके साथ बातचीत के लिए तैयार हैं। 

वहीं अफगानिस्तान के राष्ट्रपति अशरफ गनी और पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान के बीच इस सम्मेलन के दौरान ही जमकर बहस हो गई। अफगानिस्तान के राष्ट्रपति अशरफ गनी ने सीधे तौर पर पाकिस्तान को अफगानिस्तान के इस हालात के लिए जिम्मेदार ठहराया, जिसपर पाकिस्तानी प्रधानमंत्री भड़क गये।

अशरफ गनी ने इस दौरान पाकिस्तान को आईना दिखाते हुए सीधे तौर पर अफगानिस्तान में पाकिस्तान की भूमिका को नकारात्मक करार दिया और कहा कि देश की बर्बादी में पाकिस्तान का सबसे बड़ा हाथ है। अशरफ गनी के इस आरोप के बाद इमरान खान भड़क गये और फिर दोनों नेताओं में बहस शुरू हो गई।

इमरान खान ने कहा कि अफगानिस्तान की स्थिति के लिए पाकिस्तान पर इल्जाम लगाना बिल्कुल नाइंसाफी है। अफगानिस्तान की अशांत स्थिति से सबसे ज्यादा प्रभावित पाकिस्तान ही हुआ है। अफगानिस्तान संकट की वजह से पाकिस्तान में पिछले 15 सालों में 70 हजार लोगों की जान गई है। पाकिस्तान अब संघर्ष में नहीं जाना चाहता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here