बड़ी खबर: कोरोना को लेकर केंद्र सरकार की नई गाइडलाइन, नए स्ट्रेन को लेकर अलर्ट, जाने विस्तार

home ministry grih mantralaya

नई दिल्ली: कोरोना वायरस संक्रमण के प्रसार को रोकने के लिए सरकार लगातार कदम उठा रही है। ताजा हालात को देखते हुए गृहमंत्रालय की ओर से नयी गाइडलाइन जारी कर दी गयी है, जो की 31 जनवरी 2021 तक जारी रहेगी। नयी गाइडलाइन में गृहमंत्रालय ने कोरोना की नयी स्ट्रेन का जिक्र किया है। गृह मंत्रालय की तरफ से कहा गया है कि ब्रिटेन के कोरोना स्ट्रेन से सावधान रहने की जरूरत है। गृह मंत्रालय ने निर्देश दिए हैं कि कंटेनमेंट जोन में लागू नियमों का लगातार सख्ती से पालन जारी रहेगा।

बता दें कि ब्रिटेन में कोरोना के नए स्ट्रेन ने तबाही मचा रखी है। यूरोपीय देशों से आने वाली फ्लाइट्स को तमाम देशों ने रोक दिया है। ब्रिटेन में कोरोना का नया स्ट्रेन मिलने बाद भारत सरकार ने भी 31 दिसंबर तक ब्रिटेन से आने वाली फ्लाइट पर रोक लगा दी है।

गृह मंत्रालय ने जो निर्देश जारी किए हैं उनके मुताबिक भारत में भले ही कोरोना के एक्टिव केस कम हुए हैं लेकिन विश्व स्तर पर कोरोना के मामलों में उछाल आया है। गृह मंत्रालय ने निर्देश दिए हैं कि कंटेनमेंट जोन में लागू नियमों का लगातार सख्ती से पालन जारी रहेगा।

जाने गाइडलाइन:

  1. निषिद्ध क्षेत्रों के बाहर किसी भी तरह का लॉकडाउन लगाने से पहले राज्यों को केंद्र से विचार-विमर्श करना होगा।
  2. सभी संक्रमित लोगों के संपर्क में आये लोगों की सूची बनायी जाएगी और पता लगाकर उन्हें पृथक-वास में भेजा जाएगा। संक्रमण के मामलों में 14 दिनों तक नजर रखनी होगी और मरीजों के संपर्क में आने वाले 80 प्रतिशत लोगों का 72 घंटे में पता लगाना होगा।
  3. भीड़ वाले स्थानों, बाजारों, हाट और सार्वजनिक परिवहन में उचित दूरी के निर्देशों का पालन करना होगा। कोरोना रोकथाम की रणनीति में निगरानी, अन्य उपायों पर ध्यान होना चाहिए और गृह मंत्रालय तथा स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा जारी दिशा-निर्देशों एवं मानक संचालन प्रक्रिया (एसओपी) का कड़ाई से पालन किया जाना चाहिए।
  4. राज्य और केंद्रशासित प्रदेशों की सरकारें केंद्र सरकार के साथ विचार-विमर्श किए बिना निषिद्ध क्षेत्रों के बाहर किसी भी प्रकार का स्थानीय लॉकडाउन लागू नहीं करेंगी।
  5. स्थानीय जिला, पुलिस और निगम प्राधिकारों पर यह सुनिश्चित करने की जिम्मेदारी होगी कि रोकथाम के उपायों का कड़ाई से पालन हो।
  6. सिनेमा हॉल और थिएटरों को बैठने की 50 प्रतिशत क्षमता के साथ संचालन की अनुमति दी गयी है।
  7. सामाजिक, खेल, मनोरंजन, शैक्षणिक, सांस्कृतिक और धार्मिक जमावड़े की स्थिति में एक हॉल में अधिकतम 50 प्रतिशत क्षमता के साथ 200 लोगों तक की अनुमति होगी। खुले स्थान में मैदान के हिसाब से लोगों को अनुमति दी जाएगी। हालांकि, स्थिति के आकलन के आधार पर राज्य सरकारें बंद स्थानों में लोगों की संख्या 100 तक सीमित कर सकती हैं।
  8. लोगों के, राज्यों के भीतर और एक राज्य से दूसरे राज्य आने-जाने या सामान ढुलाई पर कोई पाबंदी नहीं होगी। ऐसी आवाजाही के लिए अलग से किसी अनुमति या ई-परमिट की जरूरत नहीं होगी।
  9. निषिद्ध क्षेत्रों में केवल जरूरी गतिविधियों की अनुमति होगी और इसके दायरे में लोगों की आवाजाही पर कड़ाई से प्रतिबंध लगाया जाएगा। केवल आपात चिकित्सा जरूरतों और आवश्यक सामान और सेवा की आपूर्ति बनाए रखने को मंजूरी होगी।
  10. संक्रमित लोगों का पता लगाने के लिए टीमें घर-घर जाकर सर्वेक्षण करेंगी।

 

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here